हमारी प्रफुल्लक नौकाएं

Standard Page - जनवरी 9, 2013
यह हमारी सबसे बड़ी नौकाएं भले ही नहीं हैं, किंतु समुद्र में प्रायः सबसे प्रभावकारी औजार हैं – हमारी ये प्रफुल्लक नौकाएं। हारपून (ह्वेल मारने वाली रस्सायुक्त बर्छी), या समुद्र में जहरीला कचरा डंप किए जाने से रोकने और अवैध रुप से मछली मारने वाली नौकाओं से मुठभेड़ करने में इनकी बराबरी करने वाला कोई नहीं है।

तकनीकी रूप से इन प्रफुल्लक नौकाओं को 'रिजिड इनफ्लैटेबुल बोट्स' अथवा रिब (RIB) कहा जाता है। बहुत सारे लोग इन्हें 'रबर की नौकाओं में ग्रीनपीस' के तौर पर भी जानते हैं।

रिब अब तक निर्मित सबसे सुरक्षित एक अलग तरह की छोटी नौकाओं में से एक है। हालांकि हम उन्हें 'प्रफुल्लक नौका के नाम से पुकारते हैं, लेकिन वे उससे कहीं अधिक नाजुक होती हैं, जितनी वे दिखती हैं अथवा जितना उनके नाम से प्रकट होता है। यद्यपि कई सारे विन्यासों और आकारों में ये उपलब्ध हैं, लेकिन कुछ चीजें सबमें समान हैं : पानी के नीचे फाइबर ग्लास या अल्युमुनियम की कड़ी पेटी होती है जो नौका को गंदे समुद्र में तेज गति से यात्रा करने में सक्षम बनाती है। विशेष तरीके से निर्मित रबर ट्यूब, जो पेटी के तल और बगल से होकर गुजरती है, नौका को पानी में विशेष स्थायित्व प्रदान करती है। एक मजबूत इंजन नौका को तेज रफ्तार देता है और एक स्थान से दूसरे स्थान तक गति करने योग्य बनाता है।

यद्यपि हम पिछले 25 सालों से विभिन्न कार्यक्रमों में उनका इस्तेमाल करते आ रहे हैं, उनके प्रयोग की प्रेरणा हमें विलक्षण स्रोत से मिली। फ्रांसीसी नाभिकीय परीक्षण के खिलाफ ग्रीनपीस यॉट वेगा द्वारा 1972 में की गई समुद्र यात्रा के दौरान फ्रांसीसी कमांडो ने वेगा पर चढ़ने और कप्तान डेविड मैकटगार्ट को बुरी तरह पछाड़ने के लिए प्रफुल्लक नौका का इस्तेमाल किया था। कमांडो नौकाओं का प्रभाव हमारे तब के रणनीतिकार मुखिया बॉब हण्टर पर चूका नहीं। यदि वे फ्रांसीसी कमांडो के लिए इतने प्रभावशाली थे तो ग्रीनपीस निश्चय ही उनका बेहतर उपयोग कर सकता था।

दो साल बाद, 1975 में, ये प्रफुल्लक नौकाएं सोवियत ह्वेलिंग जहाज को चुनौती दे रही थीं और धड़ाकेदार हारपूनों से ह्वेल की रक्षा कर रही थीं, जैसाकि आज 31 साल बाद भी वे कर रही हैं।

इतने सालों में कितनी सारी प्रफुल्लक नौकाएं आईं और गईं, बैरल के बैरल रेडियोएक्टिव कचरा उन पर डाला गया, अवैध लकड़ियां ढोने वाले जहाजों द्वारा उन्हें कुचल डाला गया, पुलिस ने उन पर कब्जा कर लिया लेकिन हमारे जहाजों पर लदी सभी प्रफुल्लक नौकाएं प्रसिद्ध हैं। कुछ के नाम तो आम तौर पर चलन के मुताबिक उनके रंग अथवा उत्पादक कंपनी के नाम पर रखे गए हैं। लेकिन कुछ का नामकरण अधिक रचनात्मकता के साथ किया गया है। मौजूदा नौका इस्पेरांजा है जिसका एक उपनाम 'अफ्रीकन क्वीन' है। इसके नामकरण के पीछे इसी नाम की एक फिल्म है जिसमें हम्फ्री बोगार्ट और कैथरीन हेपबर्न को जहाज पर यात्रा करते हुए कांगो तक ले जाया गया था।