आर्गस

Standard Page - जनवरी 9, 2013
आर्गस ग्रीनपीस का सबसे छोटा मोटर जलयान है। यह मुख्य रूप से राटरडैम (नीदरलैंड) बंदरगाह पर या उत्तरी समुद्रतटीय इलाकों में कार्य करता है।

शुरुआत

स्वीडन की जलसेना द्वारा आर्गस सन् 1977 में बनाया गया था और यह उस समय एमएस ट्रायम्बर्जेन के नाम से जाना जाता था।

ग्रीनपीस ने इस जलयान को सन् 2000 में अपने यहां शामिल किया। इसके पहले यह नार्वे के समुद्री इलाकों में जल सेना के प्रशिक्षण एवं मछली मारने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। इस जलयान का नाम बदलकर आर्गस रखा गया। इसका पंजीकरण राटरडैम के ल्यूवेहेवन बंदरगाह पर है।

इतिहास

आर्गस हल्के पदार्थों से बना हुआ है तथा इसमें एक साथ दो इंजन लगे हुए हैं इसलिए यह काफी तेज चलने वाला जलपोत है। इसमें पानी एवं मिट्टी के नमूनों का परीक्षण करने वाले यंत्र लगे हैं। आर्गस के जरिए ग्रीनपीस प्रदूषण, जहरीले रसायनों के गैरकानूनी निस्तारण एवं राटरडैम बंदरगाह के वातावरण को हो रहे नुकसान की तहकीकात कर सकता है।

यूनान की पौराणिक कथाओं में आर्गस एक ऐसा अलौकिक मानव है जिसके पूरे शरीर में आंख ही आंख हैं इसलिए वह प्रत्येक चीज को बहुत अच्छी तरह से देख सकता है। ग्रीनपीस के आर्गस-पोत का प्रतीक यही है जो प्रदूषण की कुशलतापूर्वक देख-रेख करता है।

कार्रवाई

आर्गस मुख्य रूप से जहरीले रसायनों के उत्पादन, प्रयोग एवं निस्तारण के खिलाफ अभियान चलाता है। पोत में स्वयं टीबीटीमुक्त पेंट का उपयोग किया गया है। टीबीटी एक अत्यंत विषाक्त रसायन है जो पोत की पेटी को शैवाल लगने से बचाता है।

आर्गस द्वारा पहली कार्रवाई सितंबर 2000 में की गई थी। पोत के क्रेन पर 'स्टॉप टीबीटी' का संदेश देता हुआ एक विशाल चिन्ह अंकित किया गया और इसे ब्रांडेड टीबीटी से पुते जलपोतों के लिए उपयोग किया गया।

फरवरी 2001 में जब सेगा टाइड नामक एक जहाज कनाडा के प्राचीन जंगलों से काटी गई लकड़ी लेकर नीदरलैंड के फ्लशिंग बंदरगाह पर प्रवेश करना चाहता था, आर्गस इसे रोकने के लिए वहां मौजूद था।

मई 2001 में ग्रीनपीस ने अति प्रदूषित राटरडैम रासायनिक बंदरगाह की घेरेबंदी करने में आर्गस का उपयोग किया। ग्रीनपीस की मांग थी कि अकजो(AKZO), शेल एवं शिनएत्सु नामक उत्पादक कंपनियां बंदरगाह पर फैले रसायन की सफाई करें।

जुलाई 2001 के अंत में आर्गस पर सवार होकर पत्रकार उत्तरी समुद्र की यात्रा कर सके। ग्रीनपीस ने वहां समुद्र के भीतर पहली बार पवन चक्की को स्थापित किया। यह ठीक वही स्थान था जहां क्लाईड पेट्रोलियम ने गैस की खोज में खुदाई की योजना बनाई थी।

राटरडैम, ब्रेस्केंस, टर्न्यूजेन एवं फ्लशिंग के बंदरगाह की मिट्टी (कीचड़) गंभीर रूप से टीबीटी प्रदूषित है। अक्तूबर में आर्गस ने इस विषैली मिट्टी का कुछ हिस्सा बाहर निकाला और उसे फ्लशिंग के एटोफिना में निस्तारित किया।

विशेषता

बंदरगाह जहां आर्गस पंजीकृत है – राटरडैम

पुराना नाम – एमएस ट्रायम्बर्जेन

चार्टर की तिथि – 2 मई 2000

सायिका (बर्थ) की संख्या – 7

इनफ्लैटेबल्स – 1 जो़डिएक

हेलिकॉप्टर के अनुकूल – नहीं

प्रकार – गश्ती पोत

निर्माण – 1977, स्वीडेन के लुंडे शहर में

कुल वजन – 29

लंबाई – 19.15मी.

चौड़ाई – 4.10मी.

खिंचाव – 1.80मी.

अधिकतम गति – 20.5 नॉट्स

इंजन – वोल्वोपेंटा (2×340 एस.एच.पी.)