Click here to Read

ताजा जानकारी

 

कोयला खदानों को बसाने के लिए उजड़ते लोग:2

Blog entry by नेहा नौटियाल | अगस्त 19, 2013

ढोलक की थाप पर झूमते ये आदिवासी अपने जंगलों में अपने लोगों के बीच खुश हैं। इन्हें मुख्यधारा में शामिल होने की ना जरूरत है ना चाह। मुट्ठी भर लोगों के फायदे के लिए हम पूरी एक सभ्यता को नेस्ता-नाबूत करने पर तुले हैं। बरसात हो या...

कोयला खदानों को बसाने के लिए उजड़ते लोग:1

Blog entry by नेहा नौटियाल | अगस्त 19, 2013

देश की 55 प्रतिशत बिजली कोयले से बनती है और इसका दस प्रतिशत 'एनर्जी कैपिटल' के नाम से मशहूर सिंगरौली जिले से आता है। देश के  सबसे बड़े घोटले 'कोयला घोटाले' की जमीनी हकीकत यहां चप्पे-चप्पे पर देखने को मिलती है। महान के नीले आसमान को...

'कोयले की लूट में लिपटा सिंगरौली' भाग: 2

Blog entry by नेहा नौटियाल | अगस्त 16, 2013

अमलोड़ी गांव में ओवरबर्डन का पहाड़। फोटो © नेहा नौटियाल हम अमलोड़ी गांव में पहुंचे हैं जहां कोयला खदानें शुरु हो चुकी हैं और यहां के निवासियों को विस्थापन के नाम पर तबाह होने के लिए छोड़ दिया गया है। तीन साल पहले अमलोड़ी एक सुंदर और...

'कोयले की लूट में लिपटा सिंगरौली' भाग: 1

Blog entry by नेहा नौटियाल | अगस्त 16, 2013

एस्सार पावर प्लांट की तस्वीर। फोटो © नेहा नौटियाल। जुलाई का महीना खत्म होने को है और सिंगरौली में बरसात के ये दिन अपने पूरे शबाब पर हैं। बैढ़न जो कि, सिंगरौली का छोटा-सा कस्बा है उससे महान वन क्षेत्र की तरफ आगे बढ़ते हुए हमें...

सरकार बिजली पैदा कर सकती है, ऑक्सीजन नहीं!

Blog entry by नेहा नौटियाल | अगस्त 15, 2013

अमीलिया गांव का एक दृष्य। तस्वीर में जो पहाड़ और जंगल नजर आ रहा है वो महान का जंगल है। फोटो © नेहा नौटियाल। “बिजली पैदा की जा सकती है मगर ऑक्सीजन ना कोई सरकार पैदा कर सकती है, ना कोई कंपनी। सरकार सिर्फ ज्यादा से ज्यादा कोयला निकालने...

बीआरएआई के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग

Blog entry by निवेदिता झा | अगस्त 14, 2013

जीएम फूड के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग। फोटो© करन वैद दिल्ली की सड़कों पर जी.एम.ओ. और मोंसेंटो भारत छोड़ो के नारे गूंज रहे थे। आजादी के 66 साल बाद एक बार फिर इतिहास खुद को दुहरा रहा था। हजारों की तादाद में लोग दिल्ली के जतंर-मंतर...

एक मुड़े से ख्वाब का टूटनाः सिंगरौली डायरी

Blog entry by अविनाश कुमार चंचल | अगस्त 9, 2013

सिंगरौली में ओवरबर्डन से बना मिट्टी का एक पहाड़। तस्वीर© नेहा नौटियाल।  शाम में छत पर खड़ा था। एक तरफ पहाड़ एकदम जिंदा-सा तो दूसरी तरफ कोयला खदानों के लिए खोद कर मिट्टी बना दिए गए ओवरबर्डन के पहाड़। कुछ दूर से रेल की छुक..छुक..छुक...

जल,जंगल और जमीन की लड़ाई को कुचल रही है कोयला कंपनी

Blog entry by नेहा नौटियाल | अगस्त 2, 2013

सिंगरौली। मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले में अपने जल, जंगल और जमीन को बचाने की लड़ाई लड़ रहे महान संघर्ष समिति के सदस्यों पर कोयला कंपनी द्वारा 4 अगस्त को आयोजित पब्लिक रैली में शामिल ना होने के लिए जबरदस्त दबाव बनाया जा रहा है।  ...

"महान संघर्ष समिति अपनी लड़ाई को मंजिल तक पहुंचाएगी."- कृपानाथ

Blog entry by कृपानाथ और अविनाश कुमार | जुलाई 25, 2013

हमारा नाम कृपानाथ है। हम ग्राम पंचायत अमिलिया तहसील माडा जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश का रहने वाले हैं। हम लोग महान संघर्ष समिति की तरफ से मंत्री महोदय से मिलने सिंगरौली से दिल्ली आये। हमलोग सबसे पहले ग्रीनपीस के साथियों से मिले। उनसे भी...

'हमारी छाती रौंदकर दी जा रही है देश को बिजली..' भाग-2

Blog entry by अविनाश कुमार चंचल | जुलाई 18, 2013

आकाश में जहरीला धुआं छोड़ता सिंगरौली में स्थित एक पावर प्लांट    मीडिया पर रिलायंस पावर   जिस समय अमजौरी में जीतलाल वैगा जैसे सैंकड़ों लोगों का घर उजड़ रहा था, ठीक उसी समय राष्ट्रीय मीडिया में रिलायंस पावर के शेयरों की...

'हमारी छाती रौंदकर दी जा रही है देश को बिजली..' भाग-1

Blog entry by अविनाश कुमार चंचल | जुलाई 15, 2013

अपनी जमीन और जंगल से विस्थापित कर दिए गए जीतलाल वैगा सिंगरौली से 40 किलोमीटर दूर अमजौरी में अपने ही जंगल-जमीन से विस्थापित कर दिए गए जीतलाल वैगा जब अपना दर्द बयां कर रहे होते हैं, तब आपके भीतर की सारी संवेदनाएं टूटने लगती हैं और...

उत्तराखंड आपदा- आप कैसे मदद कर सकते हैं?

Blog entry by nnautiya | जुलाई 4, 2013

उत्तराखंड में भारी बारिश और बादल फटने के कारण आई भयानक बाढ़ ने राज्य में तबाही मचा दी है। बाढ़ ने उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और केदारनाथ के आस-पास के इलाकों में भयानक तबाही मचाई है। चारधाम की यात्रा के चलते यहां फंसे हजारों...

25 - 36 of 55 results.